गन्ने का रस पीने के हैं ये फायदे, बस रखिए इन बातों का ध्यान

0
61
गन्ने का रस पीने के हैं ये फायदे, बस रखिए इन बातों का ध्यान

ज़रा ध्यान से पढ़ना पूरी बात।

गर्मियां आ गई हैं और ऐसे में सभी लोग खुद को हाइड्रेट करने और गर्मी से छुटकारा पाने के लिए कई तरह के जूस का सहारा लेते हैं। उन्हीं में से एक है गन्ने का रस। इसे हर कोई पीना पसंद करता है। गर्मियों के दौरान हर रोज एक गिलास गन्ने का रस पीने की सलाह दी जाती है।

गन्ने का रस आसानी से मिल भी जाता है। स्वाद में भी अच्छा होता है। गन्ने का रस पीने के फायदे तो अनेक हैं लेकिन इसे पीते समय हमें बहुत सी बातों का खयाल भी रखना चाहिए। आज हम आपको ऐसी ही कुछ बातें बताने वाले हैं। ज़रा ध्यान से पढ़ना। आखिर मामला आपकी सेहत से जुड़ा हुआ है।

मोटापा कम करता है

जो लोग अपने मोटापे से परेशान हैं उन्हें गन्ने का रस जरूर पीना चाहिए क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है जो मोटापा घटाने में मदद करता है।

दिल की बीमारियों से बचाव

दिल के मरीजों के लिए भी गन्ने का रस फायदेमंद है। गन्ने के रस में कॉलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है जिससे हार्ट की बीमारियों से बचने में मदद मिलती है।

एनर्जी मिलती है इससे

 

गन्ने का रस एनर्जी से भरपूर होता है। इसमें सुक्रोज ग्लूकोज होता है। तभी तो इसे पीते ही कमजोरी दूर हो जाती है। साथ ही साथ तुरंत एनर्जी भी मिलती है।

बाल अच्छे होते हैं

गन्ने का रस पीने से स्किन और बाल अच्छे रहते हैं और यह बॉडी को भी हाइड्रेट करता है।

खून की कमी नहीं रहती

गन्ने के रस में भरपूर मात्रा में आयरन होता है, जो एनीमिया से हमारा बचाव करता है। खून की कमी होने पर गन्ने का रस पीने की सलाह दी जाती है।

पीते समय रखें इन बातों का खयाल

जहां एक तरफ गन्ने का रस पीने के कई फायदे हैं, वहीं दूसरी तरफ इसे पीते समय हमें कुछ सावधानियां भी बरतनी चाहिए।

नमक मिलाना न भूलें

गन्ने का रस पीते समय इसमें चुटकी भर नमक मिलाना न भूलें, इससे आपका गला साफ रहेगा और गले में खराश भी नहीं होगी।

हमेशा ताज़ा गन्ने का रस ही पिएं

गन्ने का रस हमेशा ताज़ा ही पीना चाहिए। गन्ने का रस अगर अधिक समय तक रखा जाए तो उसमें टॉक्सिन्स पैदा होते हैं, जिससे डाइजेशन खराब हो सकता है।

नहीं पीना चाहिए गन्ने का रस

डायबिटीज़ के मरीज़ों को गन्ने का रस नहीं पीने की सलाह दी जाती है, क्योंकि इसे पीने से शुगर लेवल बढ़ता है जो कि खतरनाक साबित हो सकता है।

इसे बनाते समय साफ-सफाई का ध्यान रखें

गन्ने का रस बनाते समय साफ-सफाई का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है। अगर गन्ने के रस को अनहाइजेनिक तरीके से बनाया जाए तो इससे पीलिया हो सकता है।

बहरहाल अगर आपको पसंद आई हो यह स्टोरी तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here